help by ay

उत्तर प्रदेश में कल का दिन किसी यादगार दिन से कम नहीं था। सीएम अखिलेश ने रक्षाबंधन से पहले प्रदेश की तकरीबन 90 हजार बेटियों और बहनों को कन्या विद्याधन का तोहफा दिया। सीएम अखिलेश की तरफ से इस तोहफे को पाते ही प्रदेश की इंटर पास बहनों के चेहरे पर ख़ुशी की लहर दौड़ गयी। भाई-बहन के इस पवित्र त्यौहार का इससे अच्छा उपहार कोई दूसरा हो ही नहीं सकता।

इस दौरान इसी कार्यक्रम में एक युवती ने सीएम अखिलेश से मदद की गुहार लगाई। युवती की समस्या थी कि उसके पिता की आर्थिक स्थिति खराब है। जिसकी वजह से उसकी शादी में रूकावट आ रही है। सीएम अखिलेश ने खुद उस युवती के आंसू पोंछे और 50 हजार रुपये की सहायता राशि‍ देने की घोषणा की।

help by ay1

हालाँकि सीएम अखिलेश के इस मानवीय पहलू से हर कोई वाकिफ है। तकरीबन यूपी की पूरी जनता ये बात समझ चुकी है कि सीएम अखिलेश मदद करने में हमेशा आगे रहे हैं। सीएम अखिलेश खुद इस बात को बार-बार दोहराते रहे हैं कि वह जैसे अंदर से हैं वैसे ही बाहर से भी हैं। यही समाजवादियों की निशानी भी है। वह लोगों की मदद करने में भरोसा रखते हैं। सीएम अखिलेश ने हाल ही में बुलन्दशहर की लड़कियों की गुहार पर उन्हें लखनऊ बुलाकर उनकी मदद की। कुल मिलाकर सीएम अखिलेश यादव जैसा मुख्यमंत्री अभी तक उत्तर प्रदेश को इससे पहले कभी नहीं मिला था। उनकी कार्यशैली में मानवता और समाजवादी विचार सर्वोच्च पर रहा है।