CM-Akhilesh-Yadav-UP-100

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के ड्रीम प्रोजेक्ट में शामिल यूपी डायल 100 एक मुसाफिर के लिए संजीवनी साबित हुई। सफर के दौरान वह ट्रेन से गिरकर जमीन पर तड़प रहा था उसी समय फरिश्ता बन एक युवक ने डायल 100 को सूचित किया। जिससे तत्काल उस आदमी को अस्पताल पहुँचाया गया। पुलिस की इस तत्परता की इलाकाई लोगों द्वारा भूरि-भूरि प्रशंसा की जा रही है।

हुआ यह की गोरखपुर से लखनऊ जा रही बाघ एक्सप्रेस ट्रेन से यात्रा कर रहे बिहार प्रांत के सीवान, विद्यानगर गुमटी के पास ट्रेन से गिर गया। वहां मौजूद ग्रामीणों द्वारा इसकी सूचना डायल 100 (पीआरबी 0878) को दी गयी। सूचना मिलते ही नजदीकी थाना मोतीगंज की डायल 100 से एसआई देवेन्द्र नाथ पाण्डेय व कांस्टेबल राम प्रताप सिंह तत्परता दिखाते हुए मौके पर पहुंचे और गंभीर रूप से घायल यात्री को विद्यानगर स्थित सरकारी अस्पताल पहुंचाए। जहां प्राथमिक उपचार के बाद चिकित्सक ने उसे जिला चिकित्सालय के लिए रेफर कर दिया। मोतीगंज के डायल 100 पुलिस की इस तत्परता की इलाकाई जनता द्वारा सराहना की जा रही है। ग्रामीणों का कहना है कि यदि डायल 100 तत्काल दुर्घटना स्थल पर पहुंचकर गंभीर रूप से घायल यात्री को अस्पताल न पहुंचाई होती, तो उसका जीवित रहना मुश्किल था।

डायल 100 में तैनात एसआई देवेन्द्र नाथ पाण्डेय कहते हैं कि सूचना मिलने के 10 से 15 मिनट के भीतर पहुंचने का प्रयास किया जाता है। रेलवे क्रासिंग बंद होने की स्थिति में समस्या आती है। इसके बावजूद शीघ्र अतिशीघ्र मौके पर पहुंचा जाता है। गतव्य हो की जिले को प्रदेश सरकार द्वारा उपलब्ध कराई गई 44 डायल 100 वाहनो को जिले के 17 थाना कोतवाली को उनके क्षेत्र के अनुसार वाहनों को उपलब्ध कराया गया है।

किसी भी राज्य के विकास में ही राज्य की सुरक्षा भी निहित है। जिससे आम जनता सुरक्षित महसूस करती है। हमारे मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का मानना है कि प्रदेश में लोग विकास के पथ पर तो बढ़ें ही साथ ही उन्हें पूरी सुरक्षा भी मिले इसके लिए उन्होंने डायल 100 योजना का विस्तार किया है। सरकार की सकारात्मक नीति और नियत का असर अब चारों ओर दिखने लगा है।