ggggg

पश्चिमी उत्तर प्रदेश की उपजाऊ धरती न सिर्फ हरियाली और खेती के लिए जानी जाती है बल्कि यहां की धरती ने प्रदेश को ऐसे नव प्रतिभावान खिलाड़ी भी पैदा किए हैं। जिन्होंने दुनिया भर में प्रदेश सहित देश का भी मान बढ़ाया है। उत्तर प्रदेश की धरती से ऐसा ही एक प्रतिभाशाली स्टार फुटबॉलर सुमित राठी है।

यूँ तो उत्तर प्रदेश ने युवा मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के नेतृत्व में चौतरफा विकास किया है। जिससे प्रदेश को ग्लोबल स्तर पर पहचान मिली है। लेकिन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव जो खुद अपने छात्र जीवन में फुटबॉलर रह चुके हैं। उन्होंने प्रदेश के खेल और खिलाड़ियों को भी खूब प्रोत्साहित किया है। वह प्रदेश में अंतर्राष्ट्रीय स्तर का स्टेडियम बनवा रहे हैं। साथ ही उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पदक जीतने वाले खिलाड़ियों की पुरस्कार राशि भी बढ़ाई है। इसके अलावा प्रदेश सरकार ने पूर्व खिलाड़ियों की पेंशन और युवा खिलाड़ियों की सुविधाओं में बढ़ोत्तरी भी की है। जिसका परिणाम भी आज के समय में देखने को मिल रहा है। प्रदेश के कई खिलाड़ी ओलम्पिक खेलों के लिए क्वालीफाई किये हैं।

साल 2017 में भारत में जूनियर फीफा वर्ल्ड कप खेला जाना है। जिसमें मुजफ्फरनगर का सुमित राठी देश की कमान संभाल सकता है। एशियाई देशों में फुटबॉल के चढ़ते खुमार के बीच इस बार यूपी का भी सितारा बुलंद होता नजर आएगा। इस तरह सुमित किसी भी फुटबाल वर्ल्ड कप में खेलने वाला उत्तर प्रदेश का पहला खिलाड़ी होगा। उसे टीम इंडिया का सबसे होनहार मिडफील्डर माना जा रहा है। जर्मनी से तीन माह का प्रशिक्षण लेकर अब वह गोवा में टीम इंडिया के साथ कैंप कर रहा है। जहाँ तक हो सकता है सुमित को टीम इंडिया की अंडर 17 का कप्तान भी बनाया जा सकता है। सुमित जब छह साल का था, तो उसके पिता का देहांत हो गया था। लेकिन पांच भाई बहनों के बीच सुमित को खेल के लिए मां से खूब सपोर्ट मिला। सुमित प्रदेश के साथ-साथ देश का भी नाम रोशन करें यही हमारी शुभकामनाएं हैं।