11

उत्तर प्रदेश में चुनावी जंग जीतने के लिए तकरीबन सभी दलों ने अपने स्टार प्रचारक तय कर लिए हैं। किसी पार्टी में उसका मुखिया ही सबसे बड़ा प्रचारक है तो किसी को फिल्मी सितारे के सहारे सत्ता हासिल होते दिख रही है। सपा-बसपा-कांग्रेस-वामदल के अलावा एआईएमआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी अपने चेहरे के दम पर तो शिवसेना जैसी पार्टी नाना पाटेकर के जरिए अपना दमखम दिखाने की जुगत लगा रही है।

22

तमाम राजनीतिक दलों से इतर बसपा में सिर्फ और सिर्फ एक स्टार प्रचारक मायावती हैं। माया को न तो प्रवक्ताओं की जरूरत है और न ही फिल्मी सितारों की। बहुजन समाज पार्टी के भीतर वह खुद ही चमकता सितारा हैं। स्टार प्रचारकों के मामले में भाजपा ने भी पूरी तैयारी कर रखी है। पार्टी के भीतर हेमा मालिनी, मनोज तिवारी, परेश रावल, किरण खेर, स्मृति ईरानी, विनोद खन्ना जैसे कई फिल्मी सितारे हैं जो स्टार प्रचारकों की भरपाई करने के लिए काफी हैं लेकिन इस बार सूची में अर्जुन रामपाल और जैकी श्रॉफ के शामिल होने की भी संभावना है।

33

बसपा की तरह सपा के भीतर भी पार्टी का प्रमुख चेहरा अखिलेश यादव हैं। चुनाव में सारा दारोमदार उन्हीं पर टिका हुआ है। लेकिन उनकी जीत के लिए किए जाने वाले प्रचार-प्रसार में सबसे बड़ा यदि कोई नाम है तो वह डिंपल यादव। अपनी सादगी के लिए पहचाने जाने वाली डिंपल यादव सूबे की सियासत में बहुत तेजी से एक ताकतवर शख्सियत के रूप में उभरी हैं। ऐसे में कहना गलत न होगा कि सपा की एक मात्र स्टार प्रचारक तो डिंपल यादव ही हैं। पार्टी में जया बच्चन जैसा जाना-माना चेहरा भी है। डिंपल के साथ जहां चुनाव प्रचार में प्रियंका गांधी मंच साझा कर सकती हैं, वहीं रामगोपाल भी अखिलेश यादव को जिताने के लिए जी तोड़ प्रचार करते हुए नजर आएंगे।