2016-09-27-2

देश के सबसे बड़े राज्य के नौजवान मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने सत्ता की बागडोर संभालने के बाद यूपी का विकास किया। सीएम अखिलेश यादव ने न सिर्फ जनता को समय पर इलाज मिले उसके लिए समाजवादी एम्बुलेंस चलाया, साथ ही युवाओं को स्वरोजगार दिलाने में भी आगे आये। उनकी कल्याणकारी योजनाओं ने उत्तर प्रदेश को विकास के रास्ते पर ला खड़ा किया। जिसको रफ्तार देने के लिए सीएम अखिलेश ने हाईवे और एक्सप्रेसवे का निर्माण किया। लखनऊ और कानपुर में मेट्रो का निर्माण शुरू कराया। जिससे इन बड़े नगरों की यातायात शुलभ हो।

kanya-vidhya-dhan

अखिलेश ने जब से सत्ता संभाली उन्होंने अपना एकसूत्रीय एजेंडा बनाया। इस एजेंडे में सिर्फ राज्य को विकास के पथ पर ले जाना था। जिसका मूर्त रूप आज जमीन पर नजर भी आ रहा है। इतना ही सीएम अखिलेश ने संवेदनशीलता का परिचय देते हुए, लोगों की मदद भी की। आईटी क्षेत्र में विकास और समग्र औद्योगिक विकास सहित तमाम फ्रंट पर यूपी में सीएम अखिलेश ने ऐसे काम किए, जो अभी तक यूपी में कभी नहीं हुआ था। माहौल सकारात्मक हुआ तो उद्योग लगने लगे, निवेश आने लगे है। नतीजा भी दिखने लगा है।

अपने इन्हीं कामों को जनता के बीच लेकर सीएम 3 नवम्बर से विकास रथयात्रा निकालने जा रहे हैं। इस विकास रथयात्रा का मकसद आने वाले साल 2017 के चुनाव यूपी में विजय हासिल करना है। रथयात्रा के जरिये सीएम सीधे जनता से संवाद करेंगे। साथ ही आने वाले चुनाव में जनता के दुःख दर्द को समझते हुए अपना घोषणापत्र बनायेंगे। कुल मिलाकर आज यूपी में विकास की बयार बह रही है। जो सिर्फ और सिर्फ सीएम अखिलेश की कोशिश का नतीजा है। सीएम अखिलेश जनता को अपने बहुत करीब रखते हैं। साथ ही प्रदेश की जनता भी उनके लिए अपना प्यार लुटाती है। जो इस विकास रथयात्रा में साफ़ नजर आएगा। इसलिए निश्चित तौर पर सीएम अखिलेश दोबारा यूपी के सीएम बनेंगे।