solar

साफ़ पानी और बेहतर उर्जा किसी भी समाज को विकसित करने के लिए बहुत ही अहम हैं। खासकर प्राथमिक स्कूलों में इन दोनों चीजों का होना बहुत ही जरूरी है। जिससे बच्चों को पीने के लिए स्वच्छ जल और गर्मी या उजाले के लिए पंखे और प्रकाश की व्यवस्था हो सके। इस बात को हमारे मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने समझा और उन्होंने पूरे प्रदेश के प्राथमिक स्कूलों में सौर उर्जा के माध्यम से आरओ का पानी एवं पंखे की सुविधा मुहैया करवा रहे हैं। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने स्कूलों में सोलर फोटोवोल्टेइक संयंत्रों की स्थापना का कार्य तेज करने के लिए सख्त निर्देश भी दिए हैं। उन्होंने ये भी कहा है कि भावी पीढ़ी से जुड़ी इस महत्वपूर्ण योजना में किसी भी प्रकार की कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

प्रदेश में लगभग 01 लाख 41 हजार प्राथमिक विद्यालय स्थापित हैं, जिनमें 95 फीसदी से अधिक ग्रामीण क्षेत्रों में स्थित हैं। इन विद्यालयों में पढ़ने वाले 6 से 14 वर्ष तक के बच्चों को स्वच्छ पेयजल तथा पठन-पाठन की आरामदायक सुविधा उपलब्ध कराने के लिए अखिलेश सरकार 1.1 किलोवॉट के सोलर पैनल स्थापित करावा रही है।

इस योजना से सरकारी स्कूलों में पढ़ रहे छात्रों को पीने के लिए स्वच्छ पानी और गर्मियों में पंखे से उन्हें गर्मी में राहत मिल रही है। इसके अलावा विद्यालय में बच्चों को स्वच्छ पेयजल के साथ-साथ मध्यान्ह भोजन बनाने के लिए जल की व्यवस्था सुनिश्चित करायी जा रही है। स्वच्छ जल से बच्चों और अध्यापकों को पानी से होने वाली तमाम बीमारियों से निजात मिलेगा। जो उत्तर प्रदेश सरकार बहुत ही सराहनीय कदम है।