rte1

किसी भी समाज के विकास में शिक्षा की भूमिका बेहद ही अहम होती है। शिक्षा से ही बेहतर समाज की स्थापना की जा सकती है। खासकर आज के समय में शिक्षा काफी अहम है। इस बात को हमारे सीएम अखिलेश यादव भी बहुत अच्छे से समझते हैं। इसलिए उन्होंने आरटीई के तहत अगले साल 50 हजार से ज्यादा गरीब छात्रों को निजी स्कूलों में दाखिला दिलाने का निश्चय किया है। प्रदेश सरकार ने इसके लिए कठोर कदम उठाने के भी संकेत दिए हैं।

प्रदेश सरकार के इस संकल्प से इस बात का अंदाजा लगाया जा सकता है कि सरकार गरीब बच्चों की शिक्षा को लेकर कितनी जागरूक है। वहीं सरकार प्राथमिक विद्यालयों में पहले से ही शिक्षा मुफ्त में डे रही है। साथ ही मिड-डे मील के में प्रदेश सरकार बच्चों के लिए मुफ्त में फल और दूध भी देना शुरू कर चुकी है। जिससे छात्रों को पौष्टिक आहार भी मिलने लगा है। इससे इस बात का अंदाजा लगाया जा सकता है कि प्रदेश सरकार गरीबों की जरूरतों और उनकी समस्याओं को भलीभांति समझती है।

निजी स्कूलों में अगर गरीब छात्रों को दाखिला मिलेगा तो वह भी अच्छी शिक्षा हासिल करके अपना और समाज का विकास करने में अहम योगदान देंगे। सरकार का ये कदम अमीरी-गरीबी के दायरे को भरने में भी अहम साबित होगा। जिससे समाज में सभी तबके के बच्चों को बराबरी का एहसास होगा। इससे आने वाले समय में एक बेहतर समाज का निर्माण होगा।