167

उत्तर प्रदेश के बनारस की रहने वाली श्रद्धा सिंह ने लघु फिल्म बनाई है। जो ऑस्कर के 43वें एनुअल स्टूडेंट एकेडमी अवार्ड की विदेशी कथा श्रेणी के सेमीफाइनल में पहुँच गयी है। इससे पहले फिल्म को कई राष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय फिल्म फेस्टिवल में 13 पुरस्कार मिल चुके हैं। अभिमन्यु कनोडिया के निर्देशन में बनी इस फिल्म में लोकप्रिय अभिनेता पीयूष मिश्रा ने अभिनय किया है।

168

171

फिल्म की कहानी यूपी के प्रकाश (अभिनेता पीयूष मिश्र) की है।  जो पुराने जमाने के सिनेमाहालों के रील रूम में काम करता है। जिसकी उम्र 60 बरस के करीब होती है। अचानक एक दिन सिनेमा हाल का मैनेजर प्रकाश से कहता है कि अब ये हाल डिजिटल होने जा रहा है। जिसकी वजह से प्रकाश को नौकरी छोड़नी पड़ जाती है। इसके बाद वह अपने गांव वापस लौट आता है। प्रकाश के नौकरी छूटने का गम और नए सिरे से जिंदगी की शुरुआत के बीच की जद्दोजहद को इस फिल्म में दिखाया गया है।

169

170

श्रद्धा सिंह ने मुंबई के विसलिंग वुड से पीजी डिप्‍लोमा किया है। उनके पिता सुरेंद्र सिंह एसबीआई बैंक में एजीएम हैं। मां कुमुद हाउस वाइफ हैं। श्रद्धा ने अपनी प्राथमिक शिक्षा वाराणसी के सेंट मेरिज कैंटोमेंट स्‍कूल से पूरी की है। इस फिल्म का नाम कथाकार है। जो 10 मिनट की है। फिल्म को बनाने में कुल 9 लाख रुपए खर्च हुए हैं। पूरी फिल्‍म मुंबई में शूट हुई है। फिल्म को सोनी चैनल पर रिलीज किया गया। इसके अलावा डायरेक्‍टर सुभाष घई की तरफ से इसे यूट्यूब पर रिलीज किया गया है।

देखें पूरी फिल्म: