shridharanसीएम अखिलेश यादव का सपना था कि यूपी में भी मेट्रो रेल चलाएंगे। अब उनका प्रयास जल्द ही हकीकत में बदलने वाला है। सबसे पहले राजधानी लखनऊ में इसी साल नवम्बर-दिसम्बर में मेट्रो के सफर की शुरुआत हो जाएगी। उसके बाद आगरा, वाराणसी और कानपुर में सीएम मेट्रो चलाने की तैयारी में हैं। हाल ही में मेट्रोमैन ईश्रीधरन ने सीएम अखिलेश यादव को ‘गो स्मार्ट कार्ड’ का प्रेजेंटेशन दिया है। इससे मेट्रो परिवहन और सिटी बस पार्किंग के भुगतान के साथ अलग-अलग 28 एजेंसियों को कनेक्ट कर सकते हैं।

इस मेट्रो कार्ड में चार सुविधाओं को इंटीग्रेट किया गया है। धीरे-धीरे इसमें और सुविधाओं को भी इंटीग्रेट किया जा सकेगा। इसे ऑटोमेटिक फेयर कलेक्शन गेट पर एंट्री के समय दिखाना होगा। मेट्रो ने पचास हजार कार्ड बनाने का टेंडर भी कर दिया है। इसे माइक्रो इलेक्ट्रॉनिका और डेटा मैटिक्स कंपनी बना रही है। मेट्रो का निगम से भी एमओयू है। ऐसे में आने वाले समय में पार्किंग के साथ दूसरी सुविधाओं को भी इससे जोड़ा जाएगा। जो भी सुविधा इसमें इंटीग्रेटेड होगी उसका भुगतान कार्ड से होने पर वो पैसा उसके खाते में चला जाएगा और लोगों को एक ही कार्ड से सबका भुगतान करने में भी आसानी होगी।

इस मेट्रो कार्ड को हम आसानी से नेट बैंकिंग, मोबाइल बैंकिंग और मेट्रो के काउंटर और मशीन से भी रिचार्ज कर सकते हैं। जो लोग बार-बार रिचार्ज नहीं कराना चाहते हैं या फिर उन्हें लगता है कि कार्ड अपने आप रिचार्ज हो जाए तो वो ऑटो रिचार्ज के ऑप्शन से इस तरह की सेटिंग कर सकते हैं कि मिनिमम पैसे होने पर कार्ड अपने आप आपके बैंक एकाउंट से रिचार्ज हो जाएगा। कुल मिलाकर सीएम अखिलेश यादव लखनऊ मेट्रो में विश्व स्तरीय सुविधा मुहैया कराना चाहते हैं। जिससे आम जनता को ज्यादा से ज्यादा सुविधा आराम से मिल सके।