nwab-singh

उत्तर प्रदेश अगर आज विकास की ऊंचाई छू रहा है, तो अखिलेश सरकार का इसमें बहुत बड़ी भूमिका है। लेकिन किसी भी देश या प्रदेश के लिए सबसे ज्यादा अहम अगर कोई होता है, तो वह है, अन्नदाता यानी हमारा किसान वर्ग। ये तबका अगर तरक्की करेगा तो प्रदेश में खुशहाली आएगी। ऐसा मानना सीएम अखिलेश का है। उन्होंने एक सपना देखा और हमेशा अपनी योजनाओं में किसानों को गंभीरता से लिया। क्योंकि उन्हें पता है उत्तर प्रदेश की विकास रथयात्रा में किसान सबसे अहम है। जो प्रदेश को विकास की तरफ और उन्हें विजय की ओर ले जा सकता है।

farming

सीएम ने बिना देर किये किसानों को मुफ्त सिंचाई की व्यवस्था प्रदान कर दी। साथ ही उनकी फसल को अच्छा दाम और बाज़ार मिले उसके लिए नवीन मंडियों का निर्माण करवाया। साथ ही सहकारी बैंक के कर्ज में डूबे किसानों के कर्जे माफ़ कर दिए। जिससे 7,86,000 किसानों को लाभ पहुंचा। सीएम ने इसके अलावा किसान बीमा योजना और कृषक दुर्घटना बीमा शुरू करके किसानों के जीवन को सुरक्षा प्रदान की।

kamdhenu

इसी क्रम में पशुपालन के व्यवसाय को बढ़ावा देने के लिए कामधेनु योजना शुरू की गई है। जिसका मुख्य उद्देश्य खुद के व्यवसाय को लेकर उत्साहित युवाओं का मार्गदर्शन कर उनको बेहतर रोज़गार उपलब्ध कराना है। उत्तर प्रदेश के हाथरस जिला के रहने वाले नवाब सिंह के जीवन में प्रदेश सरकार द्वारा शुरू की गई कामधेनु योजना की वजह से सकारात्मक बदलाव आया। रोज़गार की जद्दोजहद में नबाव सिंह की ज़िदगी मुश्किलों में कट रही थी। एक दिन अख़बार पढ़ते हुए नवाब सिंह को मुख्यमंत्री द्वारा शुरू की गई कामधेनु योजना के बार में जानकारी मिली। बैंक से ऋण स्वीकृत होने के पश्चात नवाब सिंह ने छह माह के अन्तराल में 50-50 भैसों को खरीद कर दुग्ध उत्पादन का काम शुरू किया। आज नवाब अपनी सफलता की कहानी अपने साथियों के साथ भी बांटते हैं।