gomati-riverfront2

नदियां किसी भी देश या प्रदेश की जीवनदायिनी होती हैं। इस बात को यूपी के सीएम अखिलेश यादव ने बहुत ही अच्छे से समझा है। हालांकि सीएम अखिलेश को पर्यावरण से बेहद लगाव है, ये बात किसी से छिपी नहीं है। हाल ही में एक दिन में 5 करोड़ पौधे लगाने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार का नाम गिनीज बुक में दर्ज हुआ है। इसी सिलसिले को आगे बढ़ाते हुए नदियों को प्रदूषण मुक्त करने का काम भी सीएम अखिलेश कर रहे हैं।

सीएम अखिलेश ने नदियों की सफाई का अभियान राजधानी लखनऊ की गोमती नदी से शुरू किया है। जिसके रिवरफ्रंट के विकास का काम अक्टूबर तक पूरा हो जायेगा। इसके लिए अखिलेश सरकार ने इस बार अनुपूरक बजट में 320 करोड़ रुपये का प्रावधान किया है। यह बजट सीएम अखिलेश ने गोमती की धारा अविरल होने के साथ-साथ रिवर फ्रंट डेवलपमेंट के अधूरे सौंदर्यीकरण को पूरा कराने और वाटर बस खरीदने के लिए आवंटित किये हैं। कुल बजट में से अखिलेश सरकार 20 करोड़ रुपये से दो वाटर बस खरीदेगी।

gomati-riverfront1

अखिलेश सरकार के नेतृत्व में प्रदेश को हरा-भरा करने के साथ-साथ नदियों की सफाई पर तेजी से जिस तरह काम चल रहा है। यूपी सरकार की इस पहल से जल्द ही यूपी भारत का सबसे साफ़ सुथरा और स्वस्थ प्रदेश हो जायेगा। हमारे सीएम अखिलेश यादव का सपना है कि प्रदेश के विकास के साथ-साथ पर्यावरण को भी बेहतर बनाने का काम कर रहे हैं। उनकी योजनाओं का लाभ प्रदेश के हर व्यक्ति तक पहुँच रहा है। उनकी पहल से आज गोमती नदी साफ़ होने के साथ-साथ सुंदर और पर्यटन के लिए मुफीद बन रही है। गोमती को साफ़ और सुंदर बनाने का पूरा क्रेडिट अखिलेश सरकार को जाता है।