mala divas

सीएम अखिलेश प्रदेश के ऐसे पहले सीएम हैं, जो सीधे तौर पर आम जनता से मिलते हैं। साथ ही उनकी समस्याओं का निराकरण करते हैं। ऐसा ही स्वाभाव सीएम की पत्नी सांसद डिंपल यादव का भी है। मौका था सीएम ऑफिस में मलाला पुरस्कार वितरण का, जहाँ डिंपल यादव छोटी बच्चियों से मिलकर कई बार अपने भावनाओं पर काबू नहीं पा सकीं। उन्होंने बच्चियों के गाल थपथपाये और कंधे पर हाथ रखा। साथ ही उनके माता-पिता के बारे में भी पूछा। एक नन्ही बच्ची उनके करीब पहुंचकर असहज हुई तो उसे सहारा देते हुए डिंपल जमीन पर बैठ गयीं और उसके साथ तस्वीरें भी खिंचवाई।

बालिका शिक्षा की प्रतीक मलाला युसुफजई को विशेष सम्मान देने और प्रदेश की बालिकाओं को शिक्षा से जोड़ने के लिए अखिलेश सरकार मलाला के जन्मदिवस को मलाला दिवस के रूप में मनाती है। इस दिन प्रदेश की अखिलेश सरकार ऐसी गरीब बालिकाओं को सम्मानित करती है। जो बड़ी ही मुफिलिसी में भी शिक्षा हासिल करके अपने सपने को जिंदा किये हुए हैं। ऐसे 45 बच्चों को सांसद डिंपल यादव ने  मलाला पुरस्कार दिया और कहा कि छोटे बच्चों को अच्छी तालीम दिलाने में उत्तर प्रदेश सरकार कोई कसर नहीं छोड़ेगी। कक्षा एक से छह तक में पढ़ाई कर रही बच्चियों को पुरस्कार देते समय मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की पत्नी और सांसद डिंपल यादव कई बार भावुक हुईं।

मलाला ने पाकिस्तान में लड़कियों को शिक्षा से जोड़ने के लिए निडर प्रयास किया। जिसकी वजह से मलाला पर आतंकवादियों ने हमला भी किया था। जिसके बाद मलाला ने ज़िन्दगी और मौत की लम्बी लड़ाई लड़ी। लेकिन मलाला के इस कदम के लिए नोबेल पुरस्कार से नवाजा गया था।