samajwadi-ambulence

एक जमाना था, जब गाँव में लोगों की मौत डॉक्टर और मेडिकल सुविधाओं की कमी के चलते लोगों की मौत हो जाया करती थी। साथ ही कई बार तो अस्पताल पहुँचने में देरी होने की वजह से भी मरीज अपनी जान गंवा देता था। ऐसा खासकर गर्भवती महिलाओं और दुर्घटनाग्रस्त मरीजों के साथ ज्यादा होता है। जो समय से अस्पताल नहीं पहुँच पाते थे और काल के गाल के में समा जाया करते थे।

साल 2012 में उत्तर प्रदेश की राजनीति में एक ऐसे नायक का आगमन हुआ। जो उगता हुआ सूर्य था। ये सूर्य कोई और नहीं बल्कि प्रदेश के मौजूदा सीएम अखिलेश यादव थे। सीएम अखिलेश यादव ने सत्ता संभालते ही प्रदेश के गरीब और गांव मर रहने वाले लोगों के लिए समाजवादी एम्बुलेंस चलायी। जो यूपी के ग्रामीण लोगों के ज़िन्दगी की डोर बनी। अखिलेश सरकार की 108 एंबुलेंस सेवा उत्तर प्रदेश की जनता के लिए वरदान बन रही है।

108 एम्बुलेंस सेवा

आज समाजवादी एम्बुलेंस के चलने से गर्भवती महिलाओं और दुर्घटनापीड़ित लोगों को समय पर अस्पताल पहुँचने मदद मिल रही है। उत्तर प्रदेश सरकार की तरफ से ये सुविधा मुफ्त है। समाजवादी एम्बुलेंस 108 सेवा के जरिये अबतक 48 लाख लोगों को लाभ मिला है। इससे प्रदेश के मातृत्व और शिशु मृत्यु दर में भारी कमी आई है। साथ ही आम जनता को इस योजना से बड़ी राहत मिल रही है। खासकर गांव के लोगों के लिए ये सेवा किसी लाइफलाइन से कम नहीं है।

सीएम अखिलेश यादव विकास रथयात्रा पर सवार होकर विधानसभा चुनाव 2017 में विजय की ओर निकल रहे हैं। ऐसे में आज प्रदेश की जनता भी उनके साथ इस यात्रा में सवार है। क्योंकि अखिलेश यादव पहले ऐसे सीएम हैं, जो जनता की भावनाओं और जरूरत को समझते हैं। जिसका उदाहरण समाजवादी एम्बुलेंस सेवा है। जिससे लोगों को समय पर इलाज मिल रहा है। आइये इस विकास रथयात्रा को सफल बनाये हैं।