1w

बलिया के धर्मराज वर्मा, महाराजगंज के शंकर वर्मा, लखनऊ के रामराज, देवरिया के सुनील चौरसिया, गाजीपुर की निधि चौबे और लखीमपुर के हृदयनारायण सिंह को यूपी के सीएम अखिलेश ने भारी राहत दी है। ये सभी लोग गंभीर बीमारियों से पीड़ित हैं। जिसका उपचार कराना काफी महंगा है। ऐसे में इन सभी लोगों ने सीएम अखिलेश यादव से मदद की गुहार लगाई थी। जिसे मुख्यमंत्री ने फ़ौरन स्वीकार करते हुए मदद पहुंचाने का आदेश दिया।

12

इसी क्रम में झांसी के एक नाबालिग आर्यन अहिरवार को भी सीएम ने 5 लाख का मदद दी है। 7 बरस के आर्यन को कृत्रिम अंग लगवाना था। जिसका खर्च उनके परिजन उठाने में असमर्थ थे। ऐसे में जब सीएम को ये बात पता चली, तो उन्होंने आर्यन को मदद पहुंचाने का काम किया है।

3

महाराजगंज के शंकर वर्मा जो विल्सन नामक बीमारी से पीड़ित हैं। सीएम अखिलेश से जब उनके परिजनों ने मदद मांगी थी। जिसके बाद सीएम अखिलेश ने शंकर वर्मा के इलाज का पूरा खर्च वहन करने की घोषणा की। साथ ही लखनऊ के राम राज की आँख के इलाज का खर्च भी यूपी सरकार उठाएगी।

4

देवरिया के सुनील चौरसिया और गाजीपुर की निधि चौबे ने भी अपनी सर्जरी कराने के लिए सीएम से आर्थिक मदद करने के लिए गुहार लगाई थी। जिसे सीएम ने मंजूर कर लिया है। इस तरह से अब इन लोगों को आर्थिक रूप से किसी भी समस्या से नहीं जूझना पड़ेगा।

5

सीएम अखिलेश ने जिस तरह से यूपी में जनप्रियता और संवेदनशीलता की मिसाल कायम की है। उसका जवाब राजधानी लखनऊ की सड़कों पर देख सकते हैं। जहां विपरीत मौसम होने के बावजूद भी अखिलेश के समर्थन में लोग दिन-रात जमें हुए हैं। सीएम ने लखीमपुर खीरी के ह्रदयनारायण सिंह को भी मदद दी है। वह ह्रदय रोग से पीड़ित हैं। इससे साफ़ अंदाजा लगाया जा सकता है कि यूपी की जनता अखिलेश को दोबारा फिर क्यों मौका देने के मूड में है।