ay

मानव जीवन में जल का महत्व जीवन से जुड़ा है। बिना जल के मानव जीवन की कल्पना करना बेमानी है। लेकिन ये जल शुद्ध भी होना चाहिए। जिससे लोगों के स्वास्थ्य पर बुरा असर न पड़े। गांवों में शुद्ध जल पहुँचाने में पिछली सरकारें असफल साबित हुईं हैं। लेकिन हमारे युवा मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने उत्तर प्रदेश के गांवों में पानी की किल्लत को दूर करने के लिए भारी संख्या में हैण्डपम्प लगाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने खराब पड़े हैण्डपम्पो को री बोर कराने के भी निर्देश दिए हैं।

गाँवों में स्वच्छ जल की सुविधा हर नागरिक तक पहुँचाने के लिए प्रतिबद्ध अखिलेश सरकार का ये फैसला काफी खास है। क्योंकि जमीन के नीचे पानी का स्तर लगातार नीचे जा रहा है। प्रदेश के कई गांवों में ग्रामीण पानी दूर-दूर से भरकर लाते हैं। ऐसे में अब उनको काफी राहत मिलेगी। सीएम ने इन हैण्डपम्पों को जल्द लगवाने की घोषणा की है।

मुख्यमंत्री ने ग्रामीण क्षेत्रों में 47,900  हैण्डपम्प लगाने के निर्देश दिए हैं। इनमें 47,900  इण्डिया मार्क-2 और बंद पड़े हैण्डपम्पों की री-बोरिंग के भी आदेश दिए गए हैं। प्रदेश सरकार ने इसके लिए एमएलए, एमएलसी को 100-100  नये हैंडपम्प लगवाने का अधिकार भी दिया है। इसके अलावा 100-100  हैंडपम्प रीबोर कराने का भी अधिकार दिया है। सरकार ने ग्रामीण क्षेत्रों में हैण्डपम्प लगवाने और री बोरिंग करवाने के लिए ग्राम्य विकास आयुक्त को 458.8632 करोड़ उपलब्ध कराए गए हैं।