“गरीब के बारे में सोचने की फुरसत आज किसी को नहीं है, समाजवादियों पर यह बड़ी जिम्मेदारी है।”

-जनेश्वर मिश्र “छोटे लोहिया”

ayphoto

सीएम अखिलेश यादव को यूँ ही नहीं जनता का सीएम कहा जाता है। उनकी ये छवि रातोंरात नहीं बन गयी है। उन्होंने काम ही ऐसे किये हैं कि आज प्रदेश की जनता उन्हें पसंद करती है। वह काफी संवेदनशील हैं। जिसका ताज़ा उदारहण बिजनौर की रहने रीमा हैं। प्रदेश के युवा मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को जैसे ही बीमार रीमा की समस्या के बारे में पता चला उन्होंने फ़ौरन उनके इलाज में मदद की। बिजनौर के बुद्धा अस्पताल में भर्ती गरीब लड़की रीमा को सीएम अखिलेश की ओर से 65 हजार की आर्थिक मदद मिली है।

Cmort

सीएम अखिलेश ऐसा कई बार कर चुके हैं, उन्होंने हाल ही में टांडा के गरीब परिवार की मदद की थी, इसके अलावा उन्होंने बरेली वंश के इलाज में भी मदद की थी। साथ ही वह ऐसे कई अनगिनत लोगों की मदद कर चुके हैं। जिन्हें तत्काल मदद की आवश्यकता रही है। उनके इन कदमों से उनकी संवेदनशीलता का अनुमान लगाया जा सकता है। इसीलिए जनता भी उन्हें अपना पसंदीदा सीएम मानती है।

ऐसा हो भी क्यों न असल में समाजवादी सरकार ने हमेशा गरीबों के लिए काम किया है। राम मनोहर लोहिया और छोटे लोहिया जनेश्वर मिश्र के विचारों पर लगातार काम करती है। हमारे मुख्यमंत्री अखिलेश यादव समाजवाद के प्रेरकों से प्रेरित होकर लगातार उत्तर प्रदेश की जनता के हित में काम कर रहे हैं। उनकी मंशा सिर्फ और सिर्फ प्रदेश का विकास करना है।