cm akhilesh

कहते हैं समाज को विकास की सही दिशा की ओर लेकर चलने के लिए सबसे जरूरी चीज जो है, वह शिक्षा है। शिक्षा से समाज जागरूक होता है, साथ ही आने वाली युवा पीढ़ी को नया आयाम मिलता है। इसीलिए सीएम अखिलेश ने यूपी में शिक्षकों को बढ़ाने का निर्णय लिया है। जिससे यूपी में शिक्षा की बुनियाद और मजबूत हो। साथ ही प्रदेश में शिक्षक बनना वालों के लिए ये एक मौके की तरह है। जो अपने ज्ञान से समाज में आने वाली पीढ़ी को शिक्षित करने का काम कर सकते हैं।

सीएम अखिलेश ने शिक्षा विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिया है कि वह जल्द से जल्द प्रदेश में शिक्षकों की नियुक्ति की प्रक्रिया का मसौदा तैयार करें और सितम्बर के अंत तक शिक्षकों की नियुक्ति करें। यूपी सरकार के इस फैसले से वास्तविक तौर पर राज्य में बेसिक शिक्षा का स्तर ऊपर उठेगा। इसके लिए अधिकारियों को उर्दू व बीपीएड शिक्षकों के खाली पदों की सूची तैयार करने का आदेश दिया है। जिसके तहत 50 हजार शिक्षकों की भर्ती होनी है।

इससे यूपी सरकार ने 16448 शिक्षकों की भर्ती की प्रक्रिया पहले ही शुरु कर दी है। 50 हजार से अधिक शिक्षकों की भर्ती ऑनलाइन होंगी। कुल मिलाकर विकास के नजरिये से शिक्षकों की भर्ती काफी अहम है। साथ ही शिक्षकों की भर्ती से प्रदेश की शिक्षा भी बेहतर होगी।