chorpaniya sonbhdr

कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती, जरूरत है तो सिर्फ जज्बा और जुनून  की। दुनिया का कोई भी काम मेहनत और लगन के आगे असंभव नहीं है। इस बात का ताज़ा उदाहरण सोनभद्र के चोरपनिया गाँव के आदिवासियों ने पेश किया है। ग्रामीणों ने बच्चों के स्कूल जाने में अड़चन बन रहे पहाड़ को काटकर 5 किमी लम्बा रास्ता बना दिया। ग्रामीणों के इस पहल की जानकारी पाते ही प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने चोरपनिया गाँव के इस दल को सीएम आवास बुलाकर सम्मानित किया।

चोरपनिया में साल 2014 तक कोई भी स्कूल नहीं था। लेकिन प्रदेश सरकार की सबको शिक्षा देने की नीति ने उसी साल यहाँ प्राथमिक विद्यालय बनवाया। लेकिन गाँव और स्कूल के बीच मोरंग की पहाड़ियां थी। जिससे सड़क बनाने में खासी दिक्कत आ रही थी। इस दिक्कत को दूर करने के लिए गाँव के लोगों ने पहाड़ को काटने का निर्णय लिया। चोरपनिया गाँव के ग्रामीणों ने श्रमदान से दो साल में छह किमी की सड़क बना डाली। प्रदेश के युवा मुख्यमंत्री को जब इस बारे में पता चला तो उन्होंने इन ग्रामीणों को सम्मानित करने का निर्णय लिया। मुख्यमंत्री ने गुरुवार को सोनभद्र से आये ग्रामीणों के जज्बे और हौसले की जमकर सराहना की।साथ ही मुख्यमंत्री ने गाँव के विकास के लिए कई योजनायें चलाये जाने का वादा किया। इससे पहले भी मुख्यमंत्री प्रदेश की असाधारण प्रतिभाओं को सम्मानित करने और उनकी हरसंभव मदद करने आगे आये हैं।