176

सरकारी बसें आम आदमी की सवारी होती हैं। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव इन्हीं आम आदमियों को बेहतर और ज्यादा से ज्यादा सुविधा मुहैया कराने के लिए यूपी के बस अड्डों को एयरपोर्ट की तर्ज पर बनाने का काम कर रहे हैं। इसका पहला उदाहरण लखनऊ का कैसरबाग बस अड्डा है। जो यूपी का पहला मॉडर्न बस अड्डा है, जिसे एयरपोर्ट के तर्ज पर तैयार किया गया है।

174

प्रदेश का पहला मॉडर्न बस अड्डा पूरी तरह से वातानुकूलित है। इसके अलावा इसे कई अन्य अत्याधुनिक यात्री सुविधाओं से लैस किया गया है। सीएम अखिलेश ने खुद इस बस अड्डे की खूबसूरती का बखान किया। साथ ही उन्होंने प्रदेश के अन्य बस अड्डों को भी इसी तरह अत्याधुनिक और खूबसूरत बनाने की बात कही। कैसरबाग बस अड्डे पर गंदगी न होने पाए, इसका विशेष इंतजाम किया गया है।

173

अखिलेश सरकार से पहले की सरकार ने यूपी की हालत जर्जर बना दी थी। उनके शासन में सिवाय पत्थर के बाकी किसी भी तरह का कोई भी विकास कार्य नहीं हुआ था। लेकिन सीएम अखिलेश ने यूपी में विकास की नींव डालते हुए। प्रदेश में कई विकास योजनायें चलाकर आज यूपी को देश के अग्रणी राज्यों में खड़ा किया है। अखिलेश सरकार की प्रथमिकता में हमेशा आम जनता रही है। इसलिए एम्बुलेंस जैसी बुनियादी सुविधाओं के साथ सड़क, बिजली और यातायात पर काफी काम किया है। जिसका नतीजा है, प्रदेश आज विकास रथ पर सवार है।