cinema hal

मनोरंजन किसी भी समाज का सबसे जरूरी पहलू होता है। मनोरंजन में हमारे समाज सबसे ज्यादा लोकप्रिय सिनेमा है। समाज के बदलाव में सिनेमा एक आइने की तरह काम करता है। इससे लोग काफी कुछ सीखते हैं। ऐसे में प्रदेश की अखिलेश सरकार ने सिनेमा को लेकर एक अहम फैसला लिया है। वह दिन अब दूर नहीं है, जब प्रत्येक ब्लाक में एक सिनेमाघर होगा।

यह सब संभव हो रहा है युवा मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की सिनेमा में विशेष रूचि का होना है। वह यूपी में फिल्मों की शूटिंग को बढ़ावा देने के लिए फिल्मकारों को सब्सिडी देते रहे हैं। साथ ही यूपी में फिल्माई जाने वाली फिल्मों का टैक्स भी करते रहे हैं। इससे उत्तर प्रदेश में बीते चार वर्षों में बहुत सी फिल्मों की शूटिंग भी हुई है। इससे प्रदेश के कलाकारों को फिल्मों में काम करने के साथ-साथ टूरिज्म को भी फायदा हुआ है। अखिलेश सरकार ने पहले चरण में सौ ब्लाकों में सिनेमाघर खोलने का निर्णय लिया है। इससे फ़िल्मी दुनिया में काम करने के लिए बेताब युवाओं के लिए रोजगार के भी अवसर होंगे। ब्लाक स्तर पर सिनेमाहाल बनाने के लिए उत्तर प्रदेश फिल्म डेवलपमेंट कौंसिल ने कार्नवल सिनेमा ग्रुप से समझौता किया है। ये ग्रुप हर ब्लाक में नये सिनेमाहाल बनाएगा साथ ही बंद पड़े सिनेमाहाल की मरम्मत करके उन्हें दोबारा से शुरू करेगा। अखिलेश सरकार की इस पहल से हर ब्लाक में मनोरंजन की व्यवस्था होगी। इसके अलावा रोजगार के अवसर भी पैदा होंगे। उदाहरण के तौर पर बंद पड़े सिनेमाघरों को जिन्दा करने के लिए कम्पनी ने दो सौ से ज्यादा युवाओं को सर्वे के लिए अपने साथ जोड़ा है।

सोशल समाजवादी भी प्रदेश के युवा मुख्यमंत्री के इस कदम की सराहना करता है।