plant

पर्यावरण को शुद्ध रखने में पेड़ो का बहुत ही बड़ा योगदान है। पेड़ न सिर्फ हवा ने घुले कार्बन डाई ऑक्साइड को सोखकर हमें ताज़ा ओक्सीजन देते हैं। साथ ही हमें लकड़ियाँ भी प्रदान करते हैं। जिसका इस्तेमाल हम अपने घर बनाने और कई अन्य कामों में करते हैं। इस बात को हमारी प्रदेश सरकार भी भलीभांति समझती है। इसी को मद्देनजर रखते हुए। सरकार नेग्रीन यूपी क्लीन यूपी अभियान भी चला रखा है। जिसके तहत सरकार प्रदेश को साफ़ सुथरा रखने की बात तो करती ही है। साथ ही वह प्रदेश को हरा भरा बनाने के लिए पेड़ों भी लगाती है। इसके लिए सरकार का नाम गिनीज बुक ऑफ़ रिकॉर्ड में भी दर्ज हो चुका है।

ग्रीन यूपी, क्लीन यूपी अभियान को बढ़ावा देने के लिए इस बार उत्तर प्रदेश सरकार ने 11 जुलाई को विश्व जनसंख्या दिवस के मौके पर पांच करोड़ पौधे लगाने का संकल्प लिया है। बरसात के मौसम में शिक्षण संस्थानों, सैन्य बलों, अर्द्ध सैन्य बलों, एनएसएस स्वयं सेवकों, एनसीसी कैडेटों और स्वयं सेवी संस्थाओं की सहभागिता से सूबे में छह करोड़ पौधों का रोपण किया जाना प्रस्तावित है।विश्व जनसंख्या दिवस के अवसर पर उत्तर प्रदेश सरकार ने24 घंटे के अंदर पांच करोड़ पौधों को रोपकर अपने ही विश्व कीर्तिमान को तोड़ने का प्रयास करेगी। इस मौके पर गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड की टीम पौधारोपण कार्यक्रम पर पैनी नजर रखेगी।

मानव जीवन के अस्तित्व के लिए वनों की आवश्यकता को देखते हुए सरकार का ये कदम बहुत ही महत्वपूर्ण है। इससे जन साधारण में वनों के महत्व, संरक्षण, सम्वर्द्धन एवं वनावरण विस्तार के प्रति जागरूकता और वृक्षारोपण कार्यक्रमों से प्रदेशवासियों को जोड़ने में सफलता मिलेगी।सोशल समाजवादी सरकार के इस कदम की सराहना करता है।