एसिड अटैक पीड़ित एससी-एसटी महिलाओं को यूपी सरकार अब देगी 8.25 लाख रुपये की मदद

ay_acid attack

Akhilesh Yadav government will now give Rs 8.25 lakh to acid attack victims of SC/ST community

 

महिलाओं को उत्पीड़न व अपराध के खिलाफ आवाज उठाने के लिए मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने वूमेन पावर लाइन 1090 के रूप में असरदार हथियार तो दिया ही है, लेकिन पीड़ित महिलाओं के प्रति हमदर्दी के मामले में भी वे हमेशा आगे रहे हैं। ताजा मामला उत्तर प्रदेश सरकार का वह निर्णय है, जिसमें प्रदेश की एसिड अटैक पीड़ित एससी-एसटी महिलाओं को मदद के रूप में अब 8.25 लाख रुपये देने का निर्णय लिया गया है। इतना ही नहीं, किसी महिला के साथ दुष्कर्म की रिपोर्ट दर्ज होने पर उसे चार लाख रुपये की मदद दी जाएगी। अखिलेश सरकार ने इस संबंध में शासनादेश भी जारी कर दिया है। मदद पाने के लिए पीड़ित की ओर से एफआईआर दर्ज कराना अनिवार्य होगा।

अनुसूचित जाति और जनजाति के लोगों का उत्पीड़न होने पर उन्हें आर्थिक मदद देने का प्रावधान है। इसी क्रम में अखिलेश सरकार ने आर्थिक मदद की संशोधित दरें जारी की हैं। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का यह आदेश उत्तर प्रदेश की उन करोड़ों आबादी को समाज की मुख्यधारा में लाने का काम करेगा, जो सामाजिक व जातिगत भेदभाव के चलते अमूमन हाशिए पर कर दिए जाते हैं। नए शासनादेश के अनुसार, अनुसूचित जाति व जनजाति के किसी व्यक्ति को मतदान से रोकने पर पीड़ित को 85 हजार रुपये, किसी मामले में झूठा फंसाए जाने या सार्वजनिक स्थान पर अपमान होने पर एक लाख रुपये  की मदद का प्रावधान किया गया है। इसके अलावा महिला को गलत ढंग से छूने के मामले में एफआईआर दर्ज होने पर पीड़ित महिला को दो लाख रुपये मिलेंगे।