biomtric

गरीबों को सरकार की योजनाओं का अधिकतम लाभ हो इसके लिए पारदर्शिता का होना बहुत आवश्यक है। प्रदेश की अखिलेश सरकार ने इसी बात को समझते हुए अपनी योजनाओं को पारदर्शी बनाना शुरू कर दिया है। जिसमें हाल ही में अखिलेश सरकार ने राशन वितरण में पारदर्शिता लाने के उद्देश्य से बायोमेट्रिक सिस्टम से अनाजों का वितरण कराने के निर्देश दिए हैं। सरकार ने शुरू में 121 दुकानों पर ये सिस्टम लागू करने का निर्णय लिया है।

अखिलेश सरकार इस सिस्टम को लागू करने के लिए महीनों से प्रयासरत है। राजधानी के आठ क्षेत्रों में इसका ट्रायल किया जा चुका है। जिसमें सफलता हासिल हुई है। टेक्निकल कामों में तकनीकी खामियों का होना स्वाभाविक है। इसके लिए टाटा कंपनी की टीम कार्य कर रही है। सभी खामियों को दूर कर लिया गया है।  कुल 121 कोटेदारों को मास्टर ट्रेनर द्वारा ट्रेनिंग भी सफलतापूर्वक दी जा चुकी है। ताकि मशीन से अनाज वितरण को लेकर कोटेदारों को कोई दिक्कतें न आयें। बायोमिट्रिक सिस्टम से राशन वितरण को लेकर तैयारी पूरी हो गई है। 121 स्थानों पर इस सिस्टम से लोगों को राशन वितरण करने के बाद अन्य सभी दुकानों में इसे लागू किया जाएगा।

अखिलेश सरकार की इस पहल से बिचौलियों से होने वाले भ्रष्टाचार पर तो रोक लगेगी साथ ही  जनता को सरकार की योजनाओं का पूरा लाभ मिलेगा। जिससे जनता के साथ-साथ प्रदेश का विकास भी होगा।