yogendr

कहते हैं जब भी कोई इन्सान किसी क्षेत्र में नाम कमाता है तो उसके नाम के साथ-साथ उसके गाँव या शहर का नाम भी लोकप्रिय होता है। सफल लोगों की सफलता में गाँव का भी भाग्य निहित होता है। इस बात का उदहारण हैं परमवीर चक्र विजेता योगेन्द्र सिंह यादव, जिनकी बदौलत उनके पूरे गाँव का विकास होने जा रहा है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने परमवीर चक्र विजेता योगेन्द्र सिंह यादव से भेंट की। मुख्यमंत्री ने कारगिल युद्ध के दौरान टाइगर हिल की फतह में उनके योगदान की सराहना की। योगेन्द्र ने कारगिल युद्ध में अपनी वीरता से देश व प्रदेश का नाम रौशन किया था। योगेन्द्र की इस वीरता पर पूरे प्रदेश को गर्व है।

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने बुलन्दशहर के रहने वाले योगेन्द्र सिंह यादव से इस मुलाकात में उनके गांव औरंगाबाद अहीर में एक 100 बेड वाला अस्पताल बनाने की घोषणा की। साथ ही, इस गांव को ‘आई स्पर्श’ योजना के तहत स्मार्ट गांव भी बनाने की बात कही। आई स्पर्श स्मार्ट गांव योजना के माध्यम से ग्रामवासियों की जरूरतों को पूरा करने के लिए मूलभूत तथा आधुनिक समाधान उपलब्ध कराये जाते हैं। जिससे ऐसे गाँव के लोगों का तेजी से विकास होता है।

कुल मिलाकर अगर आज हम किसी काम में अपने देश या प्रदेश का नाम रोशन करेंगे। तो इसका फायदा हमारे शुभचिंतकों को भी होता है। मुख्यमंत्री के सहयोग से अब उनके पूरे गाँव का चहुमुखी विकास होगा। जिसका श्रेय योगेन्द्र सिंह को जाता है। इस दौरान योगेन्द्र सिंह यादव ने भेंट के दौरान मुख्यमंत्री की सराहना करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री के दिल में रक्षा बलों के कर्मियों के प्रति संवेदनशीलता है।