akhilesh yadav

उत्तर प्रदेश की अखिलेश सरकार विकास कार्यों को बढ़ावा देने के लिए इसके जरूरी सारे कदम उठा रही है। प्रदेश के दो औद्योगिक क्षेत्रों को जोड़ने के उद्देश्य से अखिलेश सरकार ने अब कानपुर गंगा बैराज से लखनऊ के अमौसी एअरपोर्ट तक सीधा एक्सप्रेसवे बनाने जा रही है। इसकी दूरी कम रहे, इसके लिए इसका निर्माण एलाइनमेंट पर किया जायेगा। जिससे किसानों को ज्यादा जमीन नहीं देनी होगी। साथ ही कई जगहों पर किसान बाजार भी बनाये जायेंगे। जिससे किसानों का विकास सर्वोपरि बना रहे।

किसी भी प्रदेश के विकास में रास्तों की भूमिका बेहद अहम होती है। जिससे छोटे-बड़े गाँव और नगर आपस में जुड़ते हैं। इससे छोटे-बड़े रोजगार और व्यापार शुरू करने में आसानी होती है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए प्रदेश की अखिलेश सरकार लगातार सड़कों और हाईवे बनाने के कामों को प्राथमिकता देती रही है। हम यहाँ ये भी कह सकते हैं कि एक्सप्रेसवे से विकास को रफ्तार देने में अखिलेश सरकार प्रदेश की पिछली सरकारों से कहीं आगे निकल रही है। जिस पर पिछली सरकारों ने इतना ध्यान नहीं दिया था। लेकिन प्रदेश के युवा मुख्यमंत्री अखिलेश यादव जो कर्म में भरोसा रखते हैं, उन्होंने सड़कों, हाईवे और एक्सप्रेसवे के निर्माण को तुरंत हरी झंडी दी है। इस एक्सप्रेसवे की लम्बाई 70 किमी होगी। जिससे 40 मिनट में लखनऊ से कानपुर पहुंचा जा सकता है। इससे कानपुर के उद्योगों को नई जान मिलेगी। साथ ही नौकरी पेशा लोगों को आवागमन में आसानी होगी। जिससे रोजगार को बढ़ावा मिलेगा।

इसके अलावा जैसे ही केंद्र सरकार कानपुर में मेट्रो बनाने की परियोजना को हरी झंडी देती है। अखिलेश सरकार कानपुर में भी मेट्रो का काम शुरू कर देगी। जिसके लिए सभी जरूरी कागजी कार्यवाही पूरी हो चुकी है। मुख्यमंत्री के इन कदमों से उद्योग-धंधे में तो तेजी आएगी। साथ ही युवाओं के लिए रोजगार के अवसर भी पैदा होंगे। जिससे उत्तर प्रदेश तरक्की की राह पर तेजी से आगे बढ़ेगा।