139

उत्तर प्रदेश की राजधानी में पहली बार जूनियर हॉकी वर्ल्डकप टूर्नामेंट का आयोजन हो रहा है। साथ ही अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम में रणजी मैच भी जारी है। इसके अलावा आईपीएल के 10वें सीजन के कुछ मुकाबले राजधानी के इसी मैदान खेले जाने की बात चल रही है। क्या इससे पहले की सरकारों ने प्रदेश में खेलों के उत्थान को लेकर ऐसी पहल किया था। आपको खुद उत्तर न में मिलेगा, क्योंकि पूर्व सरकार खेल स्टेडियम के बजाय पत्थर की मूर्तियां लगाने में व्यस्त थी। इस प्रतियोगिता में दुनिया के 16 देशों की टीमें हिस्सा ले रही हैं।

137

जूनियर हॉकी विश्वकप की मेजबानी करना कोई मामूली बात नहीं है। इसके लिए अखिलेश सरकार ने राजधानी के हॉकी स्टेडियम मेजर ध्यानचंद और मोहम्मद शाहिद स्टेडियम में दिन-रात्रि के मुकाबलों के आयोजन के लिए फ्लड लाइट लगवाने का काम किया। इसके अलावा सरकार ने मैच देखने के लिए राजधानी में करीब 12 जगहों पर एलईडी लगवाई है। इसके अलावा प्रदेश के दूसरे 12 शहरों में भी दर्शकों के लिए मैच देखने की सरकार ने व्यवस्था की है।

138

जूनियर हॉकी विश्वकप खासकर यूपी के खिलाडिय़ों के लिए मील का पत्थर साबित होगा। दुनिया के सवा सौ से अधिक देशों में इस प्रतियोगिता का प्रसारण होगा। जिससे यूपी में पर्यटन के साथ-साथ यहां की संस्कृति का भी विकास होगा। इस बड़े आयोजन का क्रेडिट हम सबके सीएम अखिलेश को जाता है।