digital cm

 

सीएम अखिलेश यादव की ये खासियत रही है कि वह हमेशा से जनता के हित को प्राथमिकता पर रखकर ही योजनाओं की शुरुआत करते हैं। उनका मानना है कि प्रदेश का विकास हो लेकिन उसमें मानव संवेदना का अहित कभी न हो। साल 2012 में सत्ता में आते ही अखिलेश सरकार ने युवा छात्रों को तकनीकी शिक्षा से जोड़ने के लिए लैपटॉप वितरण योजना की शुरुआत की। इस लैपटॉप वितरण योजना के जरिये अबतक तकरीबन 15 लाख से ज्यादा छात्रों को लैपटॉप मिल चुका है। इसी कड़ी में अखिलेश सरकार लैपटॉप की तर्ज पर अब जनता को मुफ्त मोबाइल स्मार्टफोन भी बांटेगी।

इससे सरकार की कल्याणकारी योजनाओं व कार्यक्रमों का फायदा सीधे जरूरतमंद तक पहुंचेगा। अखिलेश सरकार इसके लिए मोबाइल फोन की डाटा बेस तकनीक के उपयोग की योजना भी बना रही है। जिससे जनता का हक़ सीधे जनता तक पहुंचेगा। ये पारदर्शी व्यवस्था की तरफ सीएम अखिलेश का बड़ा कदम है। सीएम की कोशिश है कि ये योजना चुनाव से पहले लागू हो जाए। अगर ऐसा नहीं हो पाया तो समाजवादी पार्टी मुफ्त मोबाइल योजना को अपने घोषणा प्रमुखता से शामिल करेगी।

इससे पहले सीएम अखिलेश ने दुनिया में विद्यार्थियों को सर्वाधिक मुफ्त लैपटॉप बांटकर सबकी बोलती बंद कर दी। कुछ ऐसा ही आम नागरिकों को मुफ्त मोबाइल फोन बांटकर अखिलेश सरकार करने जा रही है। खुद सीएम अखिलेश ने माना है कि मोबाइल डाटा बेस सेवा से सूचना तकनीक के इस्तेमाल से चंद सेकंड में शासन से प्रशासन तक पहुँचाया जा सकता है। इससे आम जनता को काफी लोग होगा।