अखिलेश सरकार की पुलिस मित्र की अवधारणा के नतीजे सामने आने लगे हैं। इसी का नतीजा है कि उत्तर प्रदेश पुलिस से एक के बाद एक गुड वर्क सामने आने लगे हैं। ताजा मामला सोनभद्र के रेनुकूट में रहने वाले बुजुर्ग को परेशान करने वाले उनके मोहल्ले के ही गुंडों को गिरफ्तार करने का हैं। सिंगापुर में रहले वाले बुजुर्ग के बेट उपेंद्र कुमार दुबे ने ट्वीट कर बुजुर्ग पिता की समस्या बताई तो यूपी पुलिस ने मात्र 20 मिनट के भीतर उनके घर पर पुलिस भेज दी। उपेंद्र को लगातार कार्रवाई के बारे में अपडेट भी किया जाता रहा।

यूपी पुलिस के इस एक्शन से प्रभावित उपेंद्र ने सोशल मीडिया पर तारीफों के पुल बांध दिए। डीजीपी के पीआरओ व यूपी पुलिस का ट्विटर हैंडल @uppolicepr संभाल रहे डिप्टी एसपी राहुल श्रीवास्तव ने बताया कि उपेंद्र ने 1988-1992 तक कोलकाता के डीएमईटी से मरीन इंजीनियरिंग की है और बीते पांच साल से सिंगापुर में रह रहे हैं। पहले वह मरीन इंजीनियर थे लेकिन वर्तमान में एक बड़ी शिप मैनेजमेंट कंपनी में डायरेक्टर हैं। उन्होंने बुधवार सुबह करीब छह बजे ट्वीट करके पिता को परेशान करने की जानकारी दी थी। उन्होंने लिखा कि मुहल्ले के गुंडे पिता को परेशान कर रहे हैं। उन्हें जान से मारने की धमकी दी है। वह पिता की सुरक्षा को लेकर चिंतित हैं। मात्र 20 मिनट में ही यूपी पुलिस के ट्विटर हैंडल से उन्हें रिस्पांस दिया गया। जवाब में लिखा गया कि स्थानीय पुलिस को बता दिया गया है। एफआईआर दर्ज करके कार्रवाई की जाएगी। इसके बाद उपेंद्र और यूपी पुलिस के बीच कई ट्वीट के जरिए बातचीत हुई। उपेंद्र को बताया गया कि पुलिस उनके घर पहुंच चुकी है। एक अन्य ट्वीट में बताया गया कि बदमाश को पकड़ लिया गया है। ट्विटर पर उपेंद्र को अपडेट करने के साथ ही डीजीपी के पीआरओ लगातार रेनुकूट पुलिस के संपर्क में भी थे। हर कार्रवाई की जानकारी वह ट्विटर पर उपेंद्र को दे रहे थे।