हर वर्ग का ख्याल रखने वाली समाजवादी सरकार ने अब एड्स के मरीजों को बड़ी सहूलियत देने जा रही है। इस कड़ी में यूपी रोडवेज की बसों में एड्स के मरीज मुफ्त सफर कर सकेंगे। इसके लिए उन्हें यात्री पास स्मार्ट कार्ड दिए जाएंगे। इसके लिए रोडवेज विभाग की ओर से तैयारी शुरू कर दी  गई है। इस सुविधा के लिए यूपी एड्स सोसाइटी के द्वारा शासन से आग्रह किया गया था।

 इस सुविधा के तहत मरीज एक बार में 100 किमी आने और वापस जाने की सुविधा मिलेगी। इस सेवा को यूपी की सभी रोडवेज बसों में शुरू कर दिया गया है। प्रदेश के करीब 70 हजार एड्स मरीजों में से 30 हजार हर महीने तो 40 हजार प्रत्येक छह माह पर कस्बे और गांवों से चेकअप कराने शहर आते हैं। इस सुविधा से उन्हें चेकअप के लिए शहर आने में काफी राहत मिलेगी। इसके लिए शासन ने सभी रीजन के आरएम को सर्कुलर भी जारी कर दिया है। यूपी एड्स सोसाइटी किराए के एवज में रोडवेज को सालाना 4.25 करोड़ रुपए चुकाएगी। सोसाइटी के आग्रह पर रोडवेज ने स्मार्ट कार्ड बनाने और इस पर आने वाले खर्च का ब्यौरा भेजा था। इसके बाद सोसाइटी ने निगम को स्मार्ट कार्ड बनाने की सहमति दे दी है। इसमें रोडवेज एड्स मरीजों के लिए दो तरह के स्मार्ट कार्ड बनाएगा। पहला हर महीने इलाज कराने वाले मरीजों के लिए और दूसरा कभी-कभी आने वालों के लिए होगा। इसके लिए जिला प्रशासन की ओर से एड्स मरीजों की लिस्ट भी तैयार की जा रही है। इसमें मरीजों के एचआईवी पॉजिटिव होने का प्रमाण पत्र भी देना पड़ेगा। ये सुविधा अप्रैल माह से पूरे प्रदेश में मिलने लगेगी।