image

उत्तर परिवहन निगम ने प्रदेश की महिलाओं को बड़ा तोहफा दिया है। अब रोडवेज की बसों में नौ सीटें महिलाओं के लिए आरक्षित रहेंगी। अगर कोई पुरुष इन सीटों पर बैठता है तो महिलाओं के आने पर उसे सीट खाली करनी होगी। उत्तर परिवहन निगम ने अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर महिलाओं के लिए रोडवेज बसों में नौ सीट आरक्षित करने की व्यवस्था पूरे उत्तरप्रदेश में 10 मार्च से लागू हो गई है। इस संबंध में एमडी के. रविंद्र नायक के आदेश सभी आरएम और एआरएम को मिल चुके हैं।

नई व्यवस्था के तहत रोडवेज की बसों में चालक के पीछे वाले दो सीटों को छोड़कर लगातार तीन लाइन वाले नौ सीट महिलाओं के लिए आरक्षित रहेंगी। इन सीटों पर लिखा रहेगा कि ये सीट महिलाओं के लिए आरक्षित है, उनके आने पर खाली करनी होगी। अनुबंधित बसों में भी यह आदेश लागू होगा। इसके लिए बसों के मालिकों को लिखित में आदेश दे दिया है| जिस बस में इन सीटों पर महिलाएं सीट नहीं लिखा होगा | उनका संचालन बंद कर दिया जाएगा।