बुंदेलखंड में सूखा राहत सामग्री समय विशेष के लिए नहीं, बल्कि अब हर माह बांटी जाएगी। इस इलाके की स्थिति को देखते हुए मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने यह घोषणा की है। इसके तहत बुन्देलखण्ड क्षेत्र में अन्त्योदय परिवारों को दी जा रही समाजवादी सूखा राहत सामग्री को अब हर महीने वितरित किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने पिछले महीने ही महोबा और चित्रकूट के भ्रमण के दौरान समाजवादी सूखा राहत सामग्री वितरण का शुभारम्भ किया था। इस सामग्री से गरीब परिवारों को मिलने वाली महत्वपूर्ण राहत को देखते हुए उन्होंने यह फैसला लिया है। 

समाजवादी सूखा राहत सामग्री के तहत बुन्देलखंड के सभी सातों जनपदों के 02 लाख 30 हजार अन्त्योदय परिवारों को 10 किलो आटा, 05 किलो चावल, 05 किलो चने की दाल, 25 किलो आलू, 05 लीटर सरसों का तेल, 01 किलो शुद्ध देसी घी तथा 01 किलो मिल्क पाउडर मुहैया कराया जाएगा। बुन्देलखण्ड क्षेत्र में सूखा प्रभावितों के लिए राज्य सरकार द्वारा खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत 02 रुपये व 03 रुपये प्रति किलो की दर से उपलब्ध कराए जाने वाले खाद्यान्न के भुगतान के अलावा इससे पहले समाजवादी सरकार यहां के लोगों को राहत दिलाने के लिए कई घोषणाएं कर चुकी है। 

बुन्देलखंड में मनरेगा के तहत 100 के स्थान पर रोजगार दिवसों को बढ़ाकर 150 करने तथा बुन्देलखण्ड क्षेत्र के पात्र परिवारों को शत-प्रतिशत समाजवादी पेंशन योजना के तहत आच्छादित करने का फैसला पहले ही लिया जा चुका है। मुख्यमंत्री ने बुन्देलखण्ड क्षेत्र में पीने के पानी की समस्या दूर करने के लिए हर सम्भव उपाय करने, पशुओं के चारे की व्यवस्था सुनिश्चित करने के साथ ही, बुन्देलखण्ड के समस्त जनपदों के ग्रामीण क्षेत्रों में 24 घण्टें विद्युत आपूर्ति करने के भी निर्देश दिया है।