अखिलेश सरकार ने कुशीनगर में भगवान बुद्ध की सबसे ऊंची मूर्ति लगाने का फैसला लिया है। इसके लिए कैबिनेट मीटिंग में कुशीनगर में मैत्रेय परियोजना के लिए जमीन देने को सरकार और मैत्रेय प्रोजेक्ट ट्रस्ट के बीच होने वाली लीज डीड के प्रस्ताव को मंजूरी दी गई है। इस योजना के लिए राज्य सरकार एक रुपये के टोकन प्रीमियम पर जमीन दे रही है। जमीन का हस्तांरण लीज डीड के माध्यम से किया जा रहा है। 

मैत्रेय परियोजना 250 से 300 एकड़ में बनाई जानी है। मैत्रेय परियोजना में धर्मार्थ चिकित्सालय, प्रारम्भिक शिक्षा से लेकर उच्च शिक्षा तक के लिए धर्मार्थ शिक्षा संस्थानए विशाल ध्यान केन्द्र, बौद्ध विहार व अतिथि गृह आदि का निर्माण होना है। यहां भगवान बुद्ध की मूर्ति लगभग 200 फिट की होगी। इसमें भगवान बुद्ध की प्रस्तावित मूर्ति दरअसल कई मंजिला इमारत होगी जो बाहर से पेडस्टल पर बैठी प्रतिमा दिखेगी और अंदर इसी इमारत का इस्तेमाल दूसरे कामों के लिए किया जाएगा। यह मूर्ति कांसे की होगी। इस पर कई सालों तक मौसम का भी कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा।